शाश्त्रो के अनुसार ऐसे महिलाओं को पसंद एते है गैर मर्द आप सोच समाज कर करे शादी

हिन्दू धर्म के शाश्त्रो को बहुत लोग मानते है इन शास्त्रों मैं बहुत हे बारीकी से हर चीज़ के बारे मैं लिखा जा है अपने अपने विद्यालय मैं जर्रूर इन शाश्त्रो के बारे मैं पढ़ा होगा इसी प्रकार लोग ज्योतिष विद्या को एक महत्व पुराण जगह देते है आप अक्सर इ अखबारों मैं पड़ते होंगे अपने राशिफल के बारे मैं यह आपके ज़िंदगी मैं होने वाली चीज़ो के बारे मैं बताते है

इसी प्रकार लोग अपने दिन की बी शुरुआत राशिफल पढ़कर करते है औरतो मैं बहुत सरिए कमिअ होती है और अछिया बी ! आदमीओ के अनुसार औरतो को संजना बहुत मुश्किल काम है पर आपको परेशां होने के जररूत नहीं है जो की ज्योतिष विद्या है वे बहुत सरे गुप्त राज जो महिलाओं के दबे है उनको बताती है इनमे ऐसे पांच बातो की बात की गयी जिसमे महिलाये कैसे गैर मर्दो से सम्बंद बनती है

1. गुस्से से लगाव रखने वाली महिलाएं

 
आज के समय मैं गुस्सा सब्विक से बात है अगर आपके लाइफ पार्टनर को जायदा गुस्सा अत है बात बात पर वो गुस्सा होना शुरू क्र देते है तोह आपके लिए मुश्किल सारी उम्र उसके साथ निभाना वे एक आदमी के साथ ऐसे सभव के कारन नहीं रह प् सकती है

2. चत्रिणी स्त्री

 
इस प्रकार की महिलये बहुत हे तेज़ किसम की होती है यह देखने बहुत सिंपल और सुंदर देखे पड़ती है पर अन्दर से यह काम करने से बहुत दूर भागने वाली होती है यह सिर्फ भगवन की सेवा करने मैं लगी रहते है शादी के पहले इनका जीवन सिंपल रहते पर उसके बाद इनके जीवन मैं बहुत सरे बदलाव आ जाते है

3. हस्तिनी स्त्रियां

इस तरह की महलिये बहुत काम देखने को मिलती है यह बस टाइम तो टाइम चेंज क्र लेते है अपने वाहवार को इनको बस पुत्र हे चाइये होता है और यह जिस्मानी प्यार करना जयादा पसंद करती है तभी यह समय देखते है लड़ने बी लग जाते है अगर इनकी बात नाह मणि जाये तो

4. पुंश्चली स्त्री

इस तरह की महिलये शेट्टी अउ मैं ही दुसरो मर्दो मैं दिलचिस्पी देखने लग जाती है इनका सभव दुसरो से बहुत अलग होता है यह हमेशा दुसरो को निचा देखने वाली बातये करती रहते है

5. पद्मिनी स्त्री

यह इसतरीआ सबसे गुड मणि गयी है यह सब से अच्छे से पेश अति है सबकी सेवा करते है इनके मन बी साफ़ होता है दबी इनको समाज मैं बी बहुत सारा मान दिया जा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.