18 साल के बाद लड़कियों के शरीर मे आते हैं ऐसे बदलाव, शायद ही आप जानते हों

ऐसा देखा गया है कि उम्र के साथ जितना विकास लड़कियों के शरीर मे होता है उसके बनिस्पत लड़को में कम होता है। लड़कियां जब उम्र के 18वें वर्ष के पड़ाव को पार करती है तो परिवार को उनकी शादी की चिंता सताने लगती है ये तो सामान्य बात है लेकिन क्या आपको पता है कि 18 साल की हो जाने के बाद लड़कियों के शरीर मे कैसे-कैसे बदलाव आने लगते हैं? बता दें कि लड़कियों के जीवन मे 18वां वर्ष काफी हद तक असरदार होता है क्योंकि उनके शरीर मे ऐसे बदलाव देखने को मिलते हैं जिसके बारे में आपको जरा भी जानकारी नही होगी। खासकर लड़को के दिमाग मे ये सवाल कौंध रहा होता है कि वो कौन से बदलाव हैं। तो चलिये जानते हैं उन बदलाव के बारे में जो लड़कियों के जवान होने पर शुरू हो जाता है…

पीरियड में IRREGULARITY

वैसे तो लड़कियों का पीरियड किशोरावस्था से ही शुरू हो जाता है लेकिन जब वह 18 वर्ष की हो जाती है तो उनके शरीर मे कुछ अलग हार्मोन स्रावित होने लगते हैं जिस वजह से पीरियड समय पर नही आता। अक्सर लड़कियों की पीरियड या तो निर्धारित डेट से पहले या उसके बाद आने लगते हैं जिससे उनका स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है।

अनचाहे बालों में बढ़ोतरी

जब भी लड़कियों की उम्र 18 से अधिक हो जाती है तो उनके शरीर मे अनचाहे बाल बढने शुरू हो जाते हैं। इससे अजीब तरह के दुर्गंध भी आने लगते हैं जिस वजह से वो साफ-सफाई के बारे में ज्यादा ध्यान रखती हैं। इसी उम्र के बाद लड़कियां वैक्सिंग की आदत पकड़ लेती हैं।

स्तन के आकार में वृद्धि

ऐसा देखा गया है कि लड़कियों के 18 वर्ष के हो जाने के बाद उनके स्तन का आकार बढ़ने लगता है। साथ ही कई बार उन्हें गांठ जैसा अनुभव होता है। दरअसल ये वृद्धि होने की वजह से होता है और ये उभार साफ झलकने लगते हैं। कुछ शोध के मुताबिक यह भी कहा जाता है कि उनके हिप्स का आकार भी बढ़ने लगता है। इसलिए दिन क्रियाओं को देखकर घबराने की जरूरत नही है क्योंकि ये सबके साथ होता है।

बालों का झड़ना

अक्सर ये देखा गया है कि इस उम्र के पड़ाव को पार करते हैं लड़कियों का बाल अधिक झड़ने लगता है। इसका एक मुख्य कारण यह भी माना गया है कि बालों के रंगों में बदलाव आने शुरू हो जाते हैं जिसके कारण पुराने बाल झड़ते हैं। दरअसल यह कमजोरी को भी दर्शाता है।

ताकत में वृद्धि

ये भी देखा गया है कि इस उम्र में उनके अंदर नये हार्मोन स्रावित होते हैं जिस वजह से उनके अंदर बीमारियों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ जाती है। लड़कियां इस उम्र में कुछ भी कर सकते हैं।

मर्दों की तरफ खिंचाव

शायद ही किसी को मालूम होगा कि इस उम्र में लड़कियां मर्दो की तरफ आकर्षित होने लगती हैं और उन्हें दुसरो के सपने भी आने शुरू हो जाते हैं। इस उम्र में विपरीत लिंग की तरफ खिंचाव होना आम बात है। इसी वजह से लड़कियां प्रेम के पास में जकड़ने लगती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.